Showing posts from April, 2019Show All
हर पल मेरा दिल अब नग़मा तेरे ही क्यूं गाता है(Har pal mera dil ab nagma tere hi kyu gata hai )
यूँ ही ख़ुद के आगे तुम मजबूर नहीं होना(yu hi khud ke aage tum Majboor nahi hona)
दुख दर्द सभी के हर लें वो माता शेरावाली(dukh dard sabhi ke har le o mata Sherawali)
ब्रज में भीड़ भारी(braj me bhid bhari)
कब कैसे ?क्या बोले ?(kab kaise ?kya bole?)
मतदान जागरूकता दोहा-शतक(matdaan jagrukta -doha satak)
कर्मठता की जीत (karmathta ki jeet)
आओ सब मिल कर संकल्प करें(aao sab mil kar sankalpa karen)
कवि जो ऐसे होते हैं(kavi jo aise hote hai)
हां मै कवि हूं(haan mai kavi hu)
हम तेरे हैं  ऋणी (hum tere hai rini)
भला इस मौत से चंदन कोई कैसे मुकर जाए(bhala is mout se chandan koi kaise mukar jaye)
नमन हे विश्ववन्दनीय महावीर(naman hai vishwavandniy mahaveer)
मैं भुंइया अंव(mai bhuiyan aav)
पाँच वर्ष का है त्यौहार(paanch varsh ka hai tyohaar)
हनुमत पिरामिड(hanumat pyramid)
चैत्र शुक्ल में मनाएं ,नवरात्रि त्यौहार(chaitra shukla me manaye navratri tyohaar)
नई साल आती रहे,मन में हो शुभ भाव(nayi saal aati rahe man me subh bhaw)
मन से कर मतदान तू(man se kar matdan tu)
कौन समय को रख सकता है(koun saay ko rakh sakta hai)
मौत का कुछ तो इंतज़ाम करें(mout ka kuchh ti intzam kare)
चैत्र नवरात्र पर घनाक्षरी(chaitra navratra par ghanakshri)
अब क्या होत है पछताने से(ab kya hota hai pachhtane se )
जग में तू आया मानव(jag me tu aaya manav)
लोकतंत्र की हत्या (loktantra ki hatya)
सुधा शर्मा के वृध्दों पर दोहे (SUDHA SHARMA KE DOHE)
सुधा शर्मा के रामनवमी पर दोहे
राम नवमी  शुभ घड़ी आई (Ramnavmi subh garhi aai)
स्मृतियाँ और राधा (smiritiyan aur radha)
कैसे कह दूं कि मुझे तुमसे प्यार हुआ नहीं(kaise kah du ki mujhe tumse pyar nhi)
आओं करें भारतीय नववर्ष का अभिनंदन(aao kare bhartiya navvarsh ka abhinandan)
सुकमोती चौहान  द्वारा रचित बेटी पर दोहे (beti par dohe )
कम भी नहीं है हौसले   (kam bhi nhi hai housale)
शहादत का इबादत कार,भी बे पीर होता है(sahadat ka ibadat kar bhi be pir hota hai)
शानदार पार्टी (shandar party )